Diabetes Diet Plan- “6 Healthy food items you should in diabetes”:डाएबीटीज़ में क्या खाना चाहिए..?

डाएबीटीज़ में क्या खाना चाहिए

(मधुमेह एक ऐसा रोग है। जिसके हो जाने के बाद व्यक्ति अपनी जीवनशैली के प्रति बेहद सवेंदनशील हो जाता है। इस दौरान मधुमेह के रोगियों को दो बातों का विशेष ध्यान रखना पड़ता है। पहला वो किन पदार्थों का सेवन कर रहे हैं। दूसरा उन पदार्थों का सेवन ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ावा न दे। मगर सवाल ये है कि वो कौन से पदार्थ हैं जिनका सेवन आपके लिए उचित रहेगा एवं उनके सेवन से आपका शुगर लेवल भी नियंत्रित रहेगा। तो चलिए आपकी इस मुश्किल को आज हम आसान कर देते हैं। चलिए जानते हैं कि डाएबीटीज़ में क्या खाना चाहिए ) (diabetes mein kya khana chahiye)


मधुमेह रोग जिससे 8/10 लोग पीड़ित होते हैं। ये एक ऐसी समस्या है जिसके हो जाने के बाद आपको  शरीर के प्रति बेहद सावधानी बरतनी पड़ती है। माना जाता है कि मधुमेह के रोगी के लिए ये अनिवार्य है कि वो हर दो घंटे के अंतराल में कुछ न कुछ अवश्य खाए। ऐसा न करने पर उन्हे समस्या भी हो सकती है। साथ ही वो किस आहार का सेवन करते हैं ये भी बेहद मायने रखता है। क्मधुमेह में ज़रूरी है ऐसे आहार का सेवन करना, जिनसे आप ब्लड शुगर स्तर नियंत्रण में रहे। माना जाता है कि मधुमेह का रोग उन्हे भी हो सकता है जो ज्यादा मीठी चीजों का सेवन करते हैं। हालांकि ये बात गलत नहीं है लेकिन इसके साथ ही एक और कारण है जिससे आपको ये बीमारी अपनी चपेट में ले सकती है। (Genetic) अनुवांशिक डाएबीटीज़ यानि जब मधुमेह आपके परिवार में पहले से ही किसी सदस्य को हो या फिर ये बीमारी आपके परिवार में पीड़ियों से चलती आ रही हो। जेनेटिक डाएबीटीज़ एक ऐसा रोग है जिससे आप चाहकर भी बच नहीं सकते। हाँ, लेकिन आप अपने आहार पर ध्यान देकर इसे बढ़ने से अवश्य रोक सकते हैं। चूंकि मधुमेह एक घातक स्थिति है। इसलिए यह व्यक्ति को मोटापा, हृदय संबंधी समस्याएं, गुर्दे की विफलता आदि जैसी कई गंभीर बीमारियों के खतरे में भी डाल देती है। तो आपको इस बात के प्रति सचेत रहना होगा कि आप क्या खा रहे हैं। अब कई लोगों का ये सवाल होता है कि आखिर वो किन पदार्थों का सेवन करें। जिससे उनकी मधुमेह की बीमारी नियंत्रण में रहे। तो चलिए बात करेंगे अब उन आहार के बारे में जिन्हे आप मधुमेह के रोग में आसानी से खा सकते हैं।

मधुमेह के रोगियों को शर्करा स्तर को नियंत्रण में रखने के लिए 1200 कैलोरी मधुमेह आहार की एक योजना भी है। मधुमेह-अनुकूल आहार का पालन करने के अलावा, सही समय पर उचित भोजन करना भी महत्वपूर्ण है। इसीलिए आप इस योजना का पालन भी जरूर करें।

मधुमेह रोगी के लिए भोजन का समय:

नाश्ता (8:00-8:30 pm)

मध्य भोजन (11:00-11:30 pm)

दोपहर का भोजन (2:00-2:30 pm)

शाम का भोजन (4:00-4:30 pm)

रात्रिभोज (8:00-8:30 pm)


हमने  मधुमेह रोगियों के लिए 6 सर्वश्रेष्ठ  स्नैक्स की एक सूची तैयार की है। ये स्नैक्स पोषक तत्वों से भरपूर, फाइबर से भरपूर होते हैं। ये लंबे समय तक आपका पेट भरा हुआ रखते हैं। और अचानक लगने वाली भूख को रोकने में आपकी मदद भी करते हैं। इसके अलावा,ये  स्वादिष्ट भी हैं। तो चलिए जानते हैं इनके बारे में विस्तार से-

डाएबीटीज़ में क्या खाना चाहिए:

  • बेक्ड क्विनोआ चिप्स

  • अगर आप खाने के शौकीन और मधुमेह का रोगी हैं। तो ये एक दुखद समस्या है। आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप क्या और कब खा रहे हैं। तो यदि आप आप शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने के लिए स्वाद से समझौता करते आ रहे थे तो अब आपके लिए अच्छी खबर है। जी हाँ , बेक्ड क्विनोआ चिप्स आपके स्वास्थ्य से समझौता किए बिना आपकी भूख को संतुष्ट करने के लिए आपके नए पसंदीदा चिप्स हैं। दरसल क्विनोआ में आहार फाइबर और प्रोटीन की सामग्री रक्त शर्करा को नियंत्रण में रखती है। तो मधुमेह के रोगी इसका सेवन आसानी से कर सकते हैं। साथ ही आप Healthy Master के क्विनोआ चिप्स को भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इनकी खास बात ये है कि ये ओवन-बेकिंग विधि से तैयार किए जाते हैं, यानि इन्हें बेक किया जाता है, तला नहीं जाता। आप यहां स्वादिष्ट और मधुमेह-अनुकूल क्विनोआ चिप्स ऑर्डर कर सकते हैं। आप क्विनोआ दलिया का सेवन भी कर सकते हैं। 

  • हरे पत्ते वाली सब्जियां
  • पत्तेदार हरी सब्जियाँ जैसे पालक, केल और अन्य में विटामिन सी जैसे पोषक तत्व उच्च मात्रा में होते हैं और इसलिए मधुमेह के रोगियों के लिए अत्यधिक अनुशंसित हैं। विटामिन सी का बढ़ा हुआ सेवन टाइप 2 मधुमेह में रक्त शर्करा के उच्च स्तर को कम करता है।

    हरी पत्तेदार सब्जियाँ बहुत पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं और कैलोरी में कम होती हैं। चूँकि उनमें कम कार्बोहाइड्रेट होते हैं, इसलिए वे रक्त शर्करा विनियमन पर भी महत्वपूर्ण प्रभाव डालते हैं। इसीलिए मधुमेह के रोगी इसका सेवन अवश्य करें। 

  • चिया सीड्स (चिया के बीज)
  • चिया सीड्स में फाइबर की मात्रा अधिक होती है लेकिन कार्ब्स कम होते हैं। चिया बीज में मौजूद फाइबर रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है। चिया बीज भोजन के आंत से गुजरने और पचने की गति को कम कर देते हैं।

    इसके अलावा, चिया बीज में पाया जाने वाला फाइबर व्यक्ति को लंबे समय तक भूख नहीं लगने देता। जो कि वजन बढ़ने से रोककर अधिक खाने से बचने में मदद करता है। इसके अलावा, चिया बीज सूजन के निशान और रक्तचाप को कम करने के लिए भी उत्कृष्ट हैं। आप भरपूर पोषक तत्व, एवं स्वाद के लिए Healthy Master के प्रीमियम चिया सीड्स को भी प्रयोग कर सकते हैं ।

  • अलसी के बीज (Flax Seeds)
  • मधुमेह के रोगियों के लिए पोषण और स्वाद का बेहतर एक और विकल्प है अलसी के बीजइसमें लिग्नांस (lignans) नामक अघुलनशील (insoluble) फाइबर का एक बड़ा स्रोत हैं, जो रक्त शर्करा के स्तर में सुधार करता है। और हृदय रोग के खतरे को कम करता है।

    हाल ही के एक अध्ययन के अनुसार, 12 सप्ताह तक अलसी के बीज के लगातार सेवन से टाइप 2 मधुमेह रोगियों में हीमोग्लोबिन ए1सी का स्तर काफी कम पाया गया।

    आपको बता दें कि अलसी से भरपूर आहार स्ट्रोक की घटनाओं को भी कम कर सकता है। उनकी उच्च फाइबर सामग्री आंतों के स्वास्थ्य और इंसुलिन संवेदनशीलता सहित विभिन्न शारीरिक कार्यों को लाभ पहुंचाती है। आप चाहें तो बेहतर गुडवत्ता के लिए Healthy Master premium chia seeds का भी प्रयोग कर सकते हैं। इनके बीज में सम्पूर्ण आहार मौजूद होते हैं।

  • नट्स 
  • नट्स फाइबर का अच्छा स्रोत होता है। अध्ययन के अनुसार, नट्स के नियमित सेवन से सूजन कम होती है और HbA1c का स्तर कम होता है। इसके अलावा नट्स शरीर में एलडीएल के स्तर के अलावा रक्त शर्करा के स्तर को भी कम करते हैं। इसीलिए , आपको अपने मधुमेह के आहार योजना में नट्स को अवश्य शामिल करना चाहिए। आपको अपने मधुमेह आहार में बादाम, अखरोट, पिस्ता और मूंगफली जैसे नट्स को शामिल करना चाहिए।

    टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों में इंसुलिन का स्तर उच्च होता है, जो अधिक वजन से जुड़ा होता है। उन्हें वजन कम करने के लिए रोजाना 30 ग्राम अखरोट खाने चाहिए।

    ये भी पड़ें- अखरोट खाने के 10 शानदार फायदे 

  • साबुत अनाज (whole grains)
  • भूरे चावल (brown rice) , जई, सूजी और साबुत गेहूं जैसे साबुत अनाज फाइबर के समृद्ध स्रोत हैं। उनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) कम होता है, इस प्रकार वे रक्त शर्करा के स्तर और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

    इसके अलावा, मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए बाजरा एक और सुपरफूड है। कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स और उच्च फाइबर सामग्री के अलावा, ये खाद्य पदार्थ रक्त शर्करा के स्तर में अचानक वृद्धि को कम करने में मदद करते हैं।


    ये भी पड़ें- वजन घटाने के लिए सर्वोत्तम 5 सर्वोत्तम बाजरा (Ragi Millets)


    निष्कर्ष: (Conclusion)

    मधुमेह के रोगियों के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों के साथ तरबूज, स्ट्रॉबेरी, मैंडरिन संतरे, ब्लैकबेरी और आड़ू जैसे कम शर्करा वाले फल शनादर विकल्प माना जाता है। हालाँकि, आपको इस बात को लेकर सतर्क रहना होगा कि आप क्या और कब खाते हैं। ग्लूकोज लेवल को नियंत्रण में रखने के लिए सोडियम युक्त खाद्य पदार्थ और पास्ता खाने से ज़रूर बचें। दरसल, आप जो मानते हैं उसके विपरीत, आपके स्वास्थ्य पर उसका अधिक प्रभाव पड़ता है। ऐसा कोई सख्त मधुमेह आहार, या भोजन की योजना या मधुमेह-अनुकूल आहार है ही नही है। जिसका सेवन सभी मधुमेह रोगियों के लिए मधुमेह रोगियों द्वारा किया जा सके। आपको  मधुमेह को प्रबंधित करने के लिए उचित खान-पान के व्यवहार की पहचान करने के लिए ग्लाइसेमिक इंडेक्स और कार्बोहाइड्रेट गिनती को देखना और जाँचना अनिवार्य है। जिससे आप ये सुनिश्चित कर सकें की जिस आहार का सेवन आप कर रहे हैं वो आपके लिए समस्या पैदा नहीं करेगा एवं आपके ब्लड शुगर को नियंत्रण में रखेगा। अगर आप इस बात से परेशान हैं कि आपको ऐसे जिन पदार्थों का सेवन करना चाहिए। या वो पदार्थ क्या हैं जिनका सेवन आपके शुगर के स्तर के लिए स्वस्थ रहेगा। तो आप Healthy Master के Diabetic (मधुमेह) पदार्थों की सूची एक बार ज़रूर देखें। इनके आहार स्वाद और पोषण स्व भरपूर निर्मित होते हैं एवं मधुमेह रोगी के लिए ये उत्तम आहार साबित होंगे।